pep.zone
Welcome, guest. You are not logged in.
Log in or join for free!
 
Stay logged in
Forgot login details?

Login
Stay logged in

For free!
Get started!

Multimedia gallery


peacock whitebeauty
aloneprince007.pep.zone

]¦•¦[maa two Liner Shayari]¦•¦[

|
|
इस दुनिया मेँ बिना श्वार्थ के सिर्फ माँ..बाप ही प्यार कर सकते हैँ|
|
|
ऐ मुसीबत जरा सोच के आ मेरे करीब,
कहीँ मेरी माँ की दुआ तेरे लिए मुसीबत न बन जाए|
|
|
घेर लेने को मुझे जब भी बलाएं आ गयी,
ढाल बनकर सामने माँ की दुआयेँ आ गयी|
|
|
इससे खूबसूरत पंक्तियाँ मैने शायद आजतक नही पढ़ी...
मै रातभर जन्नत की सफर करता रहा यारोँ,
सुबह आँख खुली तो देखा सर माँ के कदमोँ मेँ था|
|
|
शौक तो माँ..बाप के पैसोँ से पूरे होते हैँ,
अपने पैसोँ से तो बस जरुरतेँ ही पूरी हो पाती हैँ|
|
|
माँ कहती है मेरी दौलत है तू,
और बेटा किसी और को जिन्दगी मान बैठा|
|
|
माँ जब भी मेरे लिए दुआ करती है,
रास्ते की हर ठोकरेँ मुझे सलाम करती हैँ|
|
|
गुलामी तो हम सिर्फ अपने माँ..बाप की ही करते हैँ,
दुनिया के लिए तो कल भी बादशाह थे और आज भी हैँ|
|
|
मुफ्त मेँ सिर्फ माँ..बाप का प्यार मिलता है,
इसके बाद दुनिया मेँ हर रिश्ते के लिए कुछ न कुछ चुकाना पड़ता है|


This page:




Help/FAQ | Terms | Imprint
Home People Pictures Videos Sites Blogs Chat
Top
.