pep.zone
Welcome, guest. You are not logged in.
Log in or join for free!
 
Stay logged in
Forgot login details?

Login
Stay logged in

For free!
Get started!

Text page


hadbadi
bipin.chaudhary.pep.zone

हड़बड़ी में गड़बड़ी (New)

एक सत्य कथा

हड़बड़ी में गड़बड़ी -+-+-+-+-+-+-+-+-+-+-+-+-+-+-+-+-+- “हेलो यार,एक चीज़ पूछनी थी तुमसे” जतिन ने थोड़ा सकुचाते हुए बोला। “हां बोलो क्या दिक्कत है? राहुल ने उधर से जवाब दिया। ”“यार एबॉर्शन की दवा बता सकते हो?" जतिन के मुँह से ये शब्द निकलते वक़्त उसकी समस्या साफ झलक रही थी। “जा साले, ऐसा घटिया काम करोगे हम कभी सोचे नहीं थे। पेल के प्रेग्नेंट कर दिए हवस के पुजारी साले” राहुल को मौका मिल ही गया था आज जतिन की टांग खिंचने का। “नहीं बे। हमको पहले से पता था तुमको यही लगेगा पर ऐसी बात नहीं ही। लखनऊ में दोस्त रहता हैं । पेलना चोदना उसका खानदानी काम है। ठाकुर है। बोल रहा था की हर बार करते थे अबकी ही साला रुक गया। माहवारी नहीं आई गर्लफ्रेंड को। उसके बाप ठेकेदार हैं के डी सिंह बाबू स्टेडियम में कोई बड़ा ठेका मिला है। डॉक्टर के पास जाने से डर रहा”। जतिन ने लम्बी सफाई दी। “देख साले ऐसा है की दवा से उतना सेफ नहीं है” राहुल ने वाजिब आपत्ति दर्ज की। “पर यार हमारे गांव में सब भौजी वौजि तो कौनो दवा खा लेती हैं गिर जाता है। खून के थक्के के रूप में बाहर फेंक देता है” । जतिन का तर्क सुनकर राहुल बोला “ऐसा करो की misoprost 25mg देदो। इस दवा से हो जाएगा। पर साले आगे से कंडोम का उपयोग जरूर काम करना।" राहुल ने चुटकी ली। जतिन ने फोन रख दिया। अब उसको वो रात याद आ रही थी जब उसकी माल राधिका पाण्डेय उसे मिली थी। राधिका पहली बार जतिन के दवाखाने में मरीज़ बनके आई थी। वह बला की खूबसूरत थी। जतिन की होमियोपैथी क्लिनिक के बाहर मरीज़ों की भीड़ लगी रहती है। पर राधिका से उसने न तो फीस के पैसे लिए न ही दवा के। साथ ही अपने चाचा के लड़को को हिदायत भी देदी (जो असिस्टेंट का काम करते हैं क्योंकि जतिन की अकेले न तो बैठने की हिम्मत है और दूसरा उसका हिसाब भी कच्चा है। सिगरेट का 20 रूपया देके उसे वापस मिले पैसे का हिसाब लगाने में 5 मिनट लग जाते हैं।) की जब भी राधिका आये तब तब उस से फीस न ली जाए। उसका आना जाना लगने लगा। एक बार शनिवार का दिन था। राधिका साँझ होते वक़्त पहुंची। जतिन के मन में तो लड्डू फूटने लगे थे। जतिन देखने में गोरा चिट्टा है और राधिका भी उन्नीस न थी। जतिन पे सारे नेपाल की लड़कियां फ़िदा थी तो राधिका जो की जतिन की क्लिनिक से 40कम दूर एक बाजार में रहती थी,वहां की सबसे कंटास माल थी। अब तक दोनों में फोन में काफी वार्तालाप होने लगा था और जतिन को ...
Next part ►


This page:




Help/FAQ | Terms | Imprint
Home People Pictures Videos Sites Blogs Chat
Top
.