pep.zone
Welcome, guest. You are not logged in.
Log in or join for free!
 
Stay logged in
Forgot login details?

Login
Stay logged in

For free!
Get started!

Text page


fuckstories.pep.zone

शीला और पनदितजी

एक लदकि है शीला, बिलकुल सीधी सादि, भोलि-भालि, भगवन मेन बहुत विशवास रकने वालि। उनफ़ोरतुनतेली, शादि के 1 साल बाद हि उसके पति का ससूतेर अस्सिदेनत हो गया और वो ऊपर चला गया। तब से शीला अपने पपा-मुम्मी के साथ रेहने लगि। अभि उसका कोइ बच्चा नहिन था।उसकि अगे 24 थी। उसके पपा मुम्मी ने उसेह दूसरि शादि के लिये कहा, लेकिन शीला ने फिलहाल मना कर दिया था। वो अभि अपने पति को नहिन भुला पयी थी, जिसेह ऊपर गये हुए आज 6 महीने हो गये थेह।

शीला फयसिसल अप्पेअरनसे मेन कोइ बहुत ज़यादा अत्तरसतिवे नहिन थी, लेकिन उसकि सूरत बहुत भोलि थी, वेह खुद भि बहुत भोलि थी, ज़यादा तिमे चुप हि रेहती थी। उसकि हेघत लगभग 5 फ़ूत 4 इनच थी, सोमपलेक्सिओन फ़ैर था, बाल काफ़ि लमबे थेह, फ़से रौनद था। उसके बूबस इनदिअन औरतोन जैसे बदे थेह, कमर लगभग 31-32 इनच थी, हिपस रौनद और बदे थेह, येह हि कोइ 37 इनच।

वो हमेशा वहिते हा फिर बहुत लिघत सोलोर कि सारि पेहेनति थी। उसके पपा सरकारि दुफ़तर मेन काम करते थेह। उनका हाल हि मेन दूसरे शहर मेन त्रनसफ़ेर हुअ था। नये शहर मेन आकर शीला कि मुम्मी ने भि एक सचूल मेन तेअचेर कि जोब ले लि। शीला का कोइ भै नहिन था और उसकि बदि बेहन कि शादि 6 साल पेहले हो गयी थी। नये शहर मेन आकर उनका घर चोति सि सोलोनी मेन था जो के शहर से थोदि दूर थी। रोज़ सुबेह शीला के पपा अपने दुफ़तर और उसकि मुम्मी सचूल चले जाते थेह। पपा शाम 6 बजे और मुम्मी 4 बजे वपस आती थी।

उनके घर के पस्स हि एक चोता सा मनदिर था। मनदिर मेन एक पनदित था, येह हि कोइ 36 साल का। देखने मेन गोरा और बोदी भि मुससुलर, हेघत 5 फ़ूत 9 इनच। सूरत भि थीक थाक थी। बाल बहुत चोते चोते थेह। मनदिर मेन उसके अलावा और कोइ ना था। मनदिर मेन हि बिलकुल पीचे उसका कमरा था। मनदिर के मुखेह दवार के अलावा पनदित के कमरे से भि एक दरवज़ा सोलोनी कि पिचलि गलि मेन जता था। वो गलि हमेशा सुन सान हि रेहती थी कयुनकि उस गलि मेन अभि कोइ घर नहिन था। नये शहर मेन आकर, शीला कि मुम्मी ने उसेह बतया कि पास मेन एक मनदिर है, उसेह पूजा करनि हो तोह वहन चले जाया करे। शीला बहुत धारमिस थी। पुजा पाथ मेन बहुत विशवास था उसका। रोज़ सुबेह 5 बजे उथ कर वो मनदिर जाने लगि।

पनदित को किसि ने बतया था एक पास मेन हि कोइ नयी फ़मिली आयी है और जिनकि 24 साल कि बेति विधवा है। शीला पेहले दिन मनदिर गयी। सुबेह 5 बजे मनदिर मेन और कोइ ना था।।।सिरफ़ ...


This page:




Help/FAQ | Terms | Imprint
Home People Pictures Videos Sites Blogs Chat
Top
.